सुपौल के त्रिवेणीगंज में फिर एकबार फिर कब्र के अंदर से लाश गायब होने का मामला सामने आया है. कब्र खोदे होने और तीन बच्चों के शव गायब होने की बात से हड़कंप मच गया. देखते ही देखते ये खबर आग की तरह फैल गयी. मीडिया में भी इसे लेकर अलग-अलग दावे किये जा रहे हैं. इस दावे में कितनी हकीकत है, यह जानने की कोशिश प्रभात खबर ने की.

क्या है पूरा मामला..

सुपौल के त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र के लालपट्टी वार्ड नंबर 11 में बघला नदी के किनारे बने कब्रिस्तान से तीन क़ब्र से लाश गायब हो जाने का मामला प्रकाश में आने से सनसनी फैल गयी. मामला सामने आया तो स्थानीय लोगों ने बताया कि सुबह यहाँ जब आये तो देखे की कब्र खोदा हुआ है.फिर जाकर इस बात की जानकारी गाँव के लोगों को दिए.जिसके बाद गाँव के लोगों के साथ यहाँ पहुँचे तो देखे की तीन कब्र से बच्चे की लाशें गायब है.

दो बच्चों की लाश पहले भी कब्र खोद कर निकाली गयी

बता दें कि लाश गायब होने की यह घटना कोई पहली बार नहीं है. 6 महीने पहले भी यह घटना यहां हो चुकी है.दो बच्चों का शव पहले भी कब्र खोद कर निकाला गया था. एकबार फिर ऐसी घटना हुई है.घटना की जानकारी मिलते ही अनुमंडल पदाधिकारी एसजेड हसन औऱ थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह पुलिस बल के साथ स्थल पर पहुँच मामले की छानबीन किया.

कहते हैं अधिकारी

एसडीएम एसजेड हसन इस मामले को अलग तरीके से देखते हैं. एसडीएम का कहना है कि लाश निकालने जैसी कोई बात नहीं है. ग्रामीणों को शंका है कि किसी ने कब्र खोद दिया है औऱ उससे लाश निकाल लिया है. लोग जादू टोना का भी लोग शक कर रहे हैं. बताया कि यहां पर चौकीदार को ड्यूटी भी लगा दी गयी है लेकिन ये पूरी तरह अंधविश्वास का मामला है. इसके अलावा कुछ नहीं है.

कब्र के ऊपर का भाग खोदा हुआ

अधिकारी ने बताया कि कब्र करीब 6 महीने पुराना है और कब्र के ऊपर का भाग खोदा हुआ है. प्रशासन इसकी जांच अपने स्तर से कर रही और ग्रामीणों का भी सहयोग लिया जा रहा है. स्थिति सामान्य है लेकिन इसके बारे में पता किया जा रहा है कि ये हरकत किसी आदमी की है या किसी जानवर ने ये किया है.

क्षेत्र में घूमते हैं जंगली जानवर

बता दें कि इस क्षेत्र में जंगली जानवर भी मिलते हैं. लोमड़ी और सियार जैसे जानवर भी यहां घूमते हैं. ऐसी एक आशंका जतायी जा रही है कि ये उन जानवरों की भी करतूत हो सकती है. हालांकि इस खबर ने फिर एकबार सनसनी जरुर फैला दी है.

Leave a Reply