दहेज की मांग पूरी नहीं हुई तो शादी के मंडप में आर्मीमैन दूल्हा रात 2 बजे तक नहीं पहुंचा। शादी टूट गई, लेकिन दुल्हन का हौसला नहीं टूटा। सोमवार को युवती लड़के के घर पहुंची और धरने पर बैठ गई। लड़के वालों ने कहा कि लड़के के सीने में दर्द हुआ था, इसलिए शादी टाल दी थी, अस्पताल में भर्ती कराया है। युवती ने कहा कि लड़का अगर भर्ती है तो मुझे उससे मिलने दो। मामला भरतपुर शहर के मथुरा गेट थाना इलाके का है।

देर रात धरने पर बैठी युवती की सुरक्षा में एक महिला कांस्टेबल और एक पुरुष कांस्टेबल तैनात है। रात 10.30 बजे के करीब कॉलोनीवासियों ने लड़की के साथ बहस करने की कोशिश की। लड़की का कहना है कि कुछ लोग शराब पीकर उपद्रव करने लगे। महिला कांस्टेबल ने हिम्मत दिखाते हुए उन्हें दूर किया। लड़की 13 घंटे से धरने पर है और अभी लड़के के घर के गेट पर जमी हुई है।

लड़की ने आज दिया लड़के घर धरना
घर के बाहर खुशबू धरने पर बैठी तो लड़के का परिवार घबरा गया। घर वालों ने अंदर से गेट पर ताला लगा लिया। लड़की काफी देर तक लड़के को आवाज देती रही। इसके बाद भी लड़के की मां ने ताला नहीं खोला। युवती को लड़के के घर के बाहर खड़ा देख आसपास के लोग भी इकट्ठे हो गए। आसपास के लोग लड़की को बुरा भला कहने लगे। उसकी पिटाई तक करने को उतारू हो गए।

महिलाओं ने की कहासुनी
जब लड़की गेट पर बैठी थी तो आसपास की महिलाएं और अन्य लोग उससे कहासुनी करने लगे। कॉलोनी के लोग उससे उलझ गए। लड़की ने कंट्रोल रूम पर फोन कर पुलिस को बुलाया, लेकिन पुलिसकर्मी भी आसपास के लोगों को समझाने की बजाए लड़की को घर जाने की सलाह देते रहे। लड़की का कहना है कि जब तक वह लड़के से नहीं मिल लेती तब तक वह घर नहीं जाएगी।

यह है पूरा मामला
खुशबू की शादी 4 मार्च को कौशल से होनी थी। शादी से पहले खुशबू के पिता ने कौशल के घर वालों को 18 लाख रुपए कैश, सोने चांदी के गहने, सारी जरूरत का सामान और एक प्लॉट दिया था। 4 मार्च को लगन और शादी के दिन लड़के के परिजनों ने 11 लाख रुपए की मांग रख दी। कहा- बारात तभी आएगी जब पैसे मिलेंगे। लड़की के पिता ने पैसे का इंतजाम होने से मना कर दिया। जिसके बाद लड़के वाले बारात लेकर नहीं पहुंचे।लड़की के पिता ने काफी मिन्नतें कीं, गिड़गिड़ाए, लेकिन वह दहेज की जिद पर अड़े रहे और यह कह कर पल्ला झाड़ लिया कि लड़के के सीने में अचानक दर्द उठा था इसलिए उसे मथुरा में एडमिट करा दिया है। इसलिए वे बारात लेकर नहीं आए। खुशबू बीए कर चुकी है।

युवती से मिलने पहुंचे जिला प्रमुख
जिला प्रमुख जगत सिंह लड़के के घर के बाहर धरना दे रही लड़की से मिलने मौके पर पहुंचे और पुलिस को निर्देश दिए कि जब तक वह चाहे धरना दे सकती है। जगत सिंह ने कहा कि लड़की के साथ गलत हुआ है। उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस की है। जिला प्रमुख जगत सिंह ने कहा कि समाज में दहेज़ की प्रथा गलत है।

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply