बिहार के मधेपुरा (Madhepura) के रहने वाले एक व्यक्ति की हरियाणा में हत्या (Murder) कर दी गई. हत्या का आरोप मृतक की पत्नी के प्रेमी पर लगा है. वारदात को अंजाम देकर भाग कर बिहार (Bihar) लौटे आरोपी युवक को ग्रामीणों ने पकड़ लिया. उन्होंने बीते 24 घंटे से ज्यादा समय से उसे खूटे से बांध कर रखा है. लोगों का आरोप है कि सूचना के बावजूद पुलिस इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक सिंहेश्वर थाना क्षेत्र के भवानीपुर वार्ड नंबर 3 निवासी राम बालक यादव की हरियाणा में हत्या कर दी गई. मृतक दिहाड़ी मजदूर था जो अपने परिवार के साथ हरियाणा में काम करने गया था. बताया जाता है कि उसके वहां जाने के बाद उसकी पत्नी का प्रेमी विजय भी वहां चला गया. राम बालक यादव को जब इस बात का पता चला तो फोन पर उसकी विजय के साथ बहस हो गयी. इसके बाद विजय ने अपने साथ काम करने वाले समस्तीपुर निवासी ऋतु कुमार के साथ मिलकर राम बालक यादव को रास्ते से हटाने की योजना बनाई और उसकी हत्या कर दी. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी प्रेमी विजय और राम बालक की पत्नी वहां से भाग कर बिहार लौट आये. सहरसा पहुंचने पर मृतक की पत्नी अपने मायके सुपौल चली गयी जबकि उसका प्रेमी विजय अपने घर भवानीपुर आ गया.

राम बालक यादव के परिवारवालों को जब पता चला कि उसकी पत्नी अकेले वापस लौटी है तो उन्होंने उससे पूछताछ शुरू हुई. महिला शुरू में कुछ भी साफ-साफ बोलने से बचती रही. लेकिन बाद में उसने बताया कि विजय उसे जान से मारने की धमकी दे रहा था इसलिए वो उसके साथ भाग आई. परिजनों ने इसकी खबर सिंहेश्वर थाना को दी जिस पर पुलिस ने आ कर महिला से पूछ-ताछ की और लौट गयी. इस बीच उन्हें भनक लगी कि महिला अपने प्रेमी के साथ फरार होने वाली है. रविवार की रात जब विजय उससे मिलने आया तो परिवारवालों ने उसे पकड़ लिया और उसे खूटे से बांध दिया.

वहीं, बंधक बनाए गये आरोपी विजय ने ग्रामीणों के सामने राम बालक यादव की हत्या की बात कबूल की. उसने बताया कि उसने अपने एक साथी से फोन करवा कर राम बालक को बुलवाया था और फिर दोनों ने मिलकर उसकी लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. इसका पता किसी को न चले इसके लिए उन्होंने उसके शव को रेलवे ट्रैक के किनारे दफना दिया था.

INPUT : HINDUSTAN

Leave a Reply