गोड्डा में एक आदिवासी लड़की ने अपने को ईसाई बताने वाले एक मुस्लिम लड़के पर प्यार में धोखा देने का आरोप लगाया है. पीडिता का आरोप है कि एक मुस्लिम लड़का उसके मां बनकर अपने दस दिन के मासूम बच्चे को छोड़कर फरार हो गया है. पिछले दस दिन से बेटे को लेकर दरदर भटकने को मजबूर हूं. पुलिस ने युवती की शिकायत पर प्रेमी को पकड़ने में जुट गई है.

एक साल पहले हुआ था प्यार
पीडिता ने बताया कि एक साल पहले युवक से प्यार हुआ था. युवक रोजाना गांव में आता था. गांव में एक दुकान पर उससे मुलाकात हुई थी. मुलाकात के दौरान उसने अपने आप को ईसाई बताया. लेकिन जब गर्भवती हो गई तो अपने आप को मुस्लिम बताने लगा. जब उससे इस बात का विरोध किया तो उसे छोड़कर भाग जाने की धमकी दी. गर्भवती की हालत में छोड़ जाने के डर से उसे कुछ नहीं कहां. फिर एक दिन वो मुझे हैदराबाद के सिकंदराबाद में लेकर आ गया. यहां पर में कपड़ों की सिलाई करने लगी और वो भी किसी कारखाने में काम करने लगा. करीब पांच महीने काम किए और उसके बाद पथरगामा आ गई. एक महीने से पथरगामा अस्पताल में बच्चा हुआ.

10 दिन के मासूम को लेर दरदर भटक रही मां
पीडिता ने कहा कि अस्पताल में बेटे के होने के दस दिन बाद युवक दोनों को छोड़कर फरार हो गया है. उसके जाने के बाद काफी परेशानियां हो रही है. 10 दिन के मासूम को लेकर जाए तो कहां जाए. अब कोई ठिकाना भी नहीं है. उसने पुलिस को आरोपित पति के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की.

आरोपित को जल्द पकड़ लेगी पुलिस
पथरगामा थाना प्रभारी बलिराम रावत ने कहा कि युवती के साथ बहुत गलत हुआ है. युवती की शिकायत पर आरोपित को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा. इसके लिए पुलिस की एक टीम तैयार कर दी है. अरोपित युवक से जो अधिकार मां और बेटे को मिलाना चाहिए उसे दिलाने का प्रयास किया जाएगा.