प्रदेश में होली के दिन शांति और सौहार्द कायम रखने के लिए पुलिस प्रशासन ने हर संभव कोशिश की. इसके बाद भी राज्य के अलग-अलग इलाकों से अप्रिय घटना सामने आती रहीं. ताजा मामला संभल जिले का है, जहां होली के जुलूस के दौरान एक मस्जिद पर कुछ लोगों ने रंग डाल दिया. इस घटना के बाद दो समुदाय के बीच जमकर पथराव हुआ.

दो समुदाय के बीच जमकर हुआ पथराव
इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए संभल के पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने बताया कि, घटना संभव कोतवाली के खग्गू सराय इलाके की है, जहां कुछ असामाजिक तत्वों ने एक मस्जिद पर रंग फेंक दिया, जिसके बाद कहासुनी हुई और फिर देखते ही देखते मामला दो समुदाय की बीच पथराव तक पहुंच गया.

स्थानीय लोगों के मदद से पुलिस ने की मस्जिद की सफाई
एसपी मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने बिना किसी देरी के एक्शन लिया और मामले को बढ़ने से पहले शांत कराने की हर संभव कोशिश की. इसके अलावा जुलूस को शांतिपूर्वक तरीके के आगे निकलवाया. एसपी ने बताया कि स्थानीय लोगों और पुलिस ने मस्जिद की सफाई की अब इलाके में पूरी तरह से शांति है.

सपा सासंद ने लोगों से की ये अपील

इधर, संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान ने भी अपने ढंग से लोगों से शब-ए-बारात और होली का त्‍योहार सौहार्दपूर्वक मनाने की अपील की, लेकिन ऐसा करते-करते वह बोल गए कि रंग के दौरान मुस्लिम समाज के लोग उन इलाके में जाने से परहेज करें जहां होली खेली जा रही हो. सांसद ने कहा कि इससे माहौल बिगड़ सकता है.

एडवाइजरी के बाद भी नहीं माने असामाजिक तत्‍व

उन्‍होंने लोगों से आपसी भाईचारा बनाए रखने और शांति व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस और प्रशासन का सहयोग करने की भी अपील की. उन्‍होंने पुलिस और प्रशासन से अपील की कि शहर में त्‍योहार के दौरान निगरानी बनाए रखें ताकि कोई असामाजिक तत्‍व सक्रिय न हो सके. दरअसल, इस बार होली, जुमा की नमाज और शब ए बारात एक ही दिन पर पड़ा है. इसके चलते दो दिन पहले इस्‍लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के चेयरमेन खालिद रशीद फरंगी महली इमाम ईदगाह ने एक एडवाइजरी जारी की थी.