रूस (Russia) ने शनिवार को उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें यह दावा किया गया था कि पुतिन सरकार (Vladimir Putin) 1 लाख 75 हजार सैनिकों के साथ यूक्रेन (Ukraine) पर हमले की योजना बना रहा था. अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट में प्रकाशित रिपोर्ट में यूएस अधिकारियों के हवाले से यह कहा गया था कि रूस 100 बटालियन टेक्टिकल ग्रुप के साथ यूक्रेन पर हमले की तैयारी कर रहा था. रिपोर्ट में दावा किया गया कि मॉस्को मल्टी फ्रंट ऑफेंसिव यानि कई मोर्चों पर हमले की योजना बना रहा था. हालांकि रूस ने इस बात से इनकार कर दिया है.

रूस के विदेश मंत्रालय ने अमेरिकी अखबार की इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए अमेरिका पर यूक्रेन के मौजूदा हालात को खराब करने का आरोप लगाया है. रूस ने कहा कि इससे पहले पेंटागन ने खुद तनाव कम करने का आह्वान किया था. अमेरिका और रूस के बीच यह विवाद उस वक्त आया है जब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) मंगलवार को रूस के राष्टपति ब्लादिमिर पुतिन से फोन पर बात करने वाले हैं. प्रेसिडेंट जो बाइडेन ने शुक्रवार को कहा था कि उनका प्रशासन यूक्रेन के मुद्दे पर राष्ट्रपति पुतिन से बात करने की योजना बना रहा था.

इससे पहले यूक्रेन के रक्षा मंत्री ने चेतावनी दी थी कि रूस जनवरी में बड़ी सैन्य तैयारियों के साथ यूक्रेन पर हमले की तैयारी कर रहा था. वहीं शुक्रवार को राष्ट्रपति पुतिन ने यूक्रेन में टर्की के ड्रोन की तैनाती को लेकर टर्की के प्रेसिडेंट एर्दोगन को लताड़ लगाई थी.

यूक्रेन बॉर्डर पर तनाव के बीच, रूस के विदेश मंत्री सेरगाई लार्वो ने यूएस के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट एंटनी ब्लिंकन से सिक्योरिटी गारंटी मुहैया कराने की मांग की थी और कहा था कि नाटो रूस तक अपनी सीमाओं का विस्तार नहीं करेगा. वहीं यूक्रेन ने कहा है कि वह यूरोपीय सेना में शामिल होने की योजना को नहीं छोड़ेगा.

Leave a Reply