मिर्जापुर में निजी स्कूल में शरारत करने पर कक्षा 2 के छात्र को सजा के तौर पर प्रिंसिपल ने बिल्डिंग की छत से पैर पकड़ कर उल्टा लटका दिया. बच्चे को लटकाने का फोटो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो गया. जिसके बाद एक्शन लेते हुए जिलाधिकारी ने मामले में टीचर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है.

मामला अहरौरा में स्थित सद्भावना शिक्षण संस्थान जूनियर हाईस्कूल प्राइवेट स्कूल का है. जहां पर आज गुरुवार की दोपहर स्कूल में कक्षा दो में पढ़ने वाले सोनू यादव नाम के बच्चे को गोलगप्पा खाने के दौरान बच्चों के साथ शरारत करने के कारण अजीबोगरीब सजा मिली. बच्चे की शरारत से नाराज हो कर स्कूल के प्रधानाचार्य मनोज विश्वकर्मा ने सजा देने के लिए बच्चे का एक पैर पकड़ कर बिल्डिंग के नीचे लटका दिया. जब यह वाकया हुआ तो आस-पास और भी बच्चे मौजूद थे. 

इस दौरान बच्चे के छटपटाने और चिल्लाने के साथ माफी मांगने के बाद टीचर ने बच्चे को छोड़ा. इसी बीच पूरी घटना का फ़ोटो खींच कर किसी ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. जिसके बाद मामले का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को तत्काल मौके पर जा कर जांच करने और मामले में आरोपी प्रधानाचार्य पर मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दे दिया. 

Leave a Reply