बीड जिले (Beed) में एक नाबालिग किशोरी के साथ पिछले छह महीने के दौरान 400 लोगों के रेप करने की जघन्य घटना सामने आई है. यौन शोषण करने वालों में एक पुलिसकर्मी भी शामिल पाया गया है, जिसने बच्ची के शिकायत लिखवाने के लिए आने पर उससे रेप किया. बीड के पुलिस अधीक्षक राजा रामासामी ने रविवार को इस जघन्य अपराध की पुष्टि की और बताया कि घटना में आरोपी तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के मुताबिक, पीड़ित नाबालिग की उम्र 16 साल है और उसकी शादी बचपन में ही कर दी गई थी.

पीड़ित किशोरी दो महीने की गर्भवती

समाचार एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, एसपी राजा रामासामी ने बताया कि पीड़ित किशोरी दो महीने की गर्भवती है. उसने किसी तरह रेप के इस जाल से निकलकर पूरी घटना की जानकारी दी. उसकी शिकायत के आधार पर बाल विवाह कानून, रेप, यौन उत्पीड़न और प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेज (POCSO) एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके बाद तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य आरोपियों के खिलाफ भी जांच की जा रही है और उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

8 महीने पहले हुई शादी, ससुराल वाले दहेज के लिए करते थे मारपीट

एसपी राजा रामासामी के मुताबिक, पीड़ित किशोरी की मां का निधन करीब दो साल पहले हो गया था. उसके पिता ने करीब 8 महीने पहले उसकी शादी कर दी. लेकिन उसका पति और सास-ससुर उसके साथ दहेज नहीं लाने को लेकर मारपीट करते थे. मारपीट से बचने को अपने पिता के पास आने के लिए वह करीब छह महीने पहले ससुराल से भाग निकली थी.

पिता ने घर में घुसने नहीं दिया, बस स्टैंड पर मांगी भीख

चाइल्ड वेलफेयर कमेटी को दिए बयान में पीड़िता ने बताया कि पिता ने उसे घर में नहीं घुसने दिया. इसके बाद वह बीड जिले के अंबाजोगई में बस स्टैंड पर भीख मांगने लगी. यहीं से उसके यौन शोषण की शुरुआत हुई. उसने कमेटी से कहा कि उसके साथ 400 से ज्यादा लोगों ने रेप किया. वह कई बार इसकी शिकायत लेकर अंबाजोगई पुलिस स्टेशन गई, लेकिन पुलिस ने भी उसकी शिकायत दर्ज नहीं की. उल्टा एक पुलिसकर्मी ने भी उसके साथ रेप किया. अब पुलिस ने इस मामले तीन आरोपियों को अरेस्‍ट किया है. पुलिस का कहना है कि जांच चल रही है, जल्‍द ही अन्‍य लोगों को गिरफ्तार किया जाएगा.

Leave a Reply