स्वदेशी तकनीक से विकसित भारतीय रेल की सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन जीरो से सौ किलोमीटर की रफ्तार तक पहुंचने में विदेशी बुलेट ट्रेन से भी तेज है। रेलवे बोर्ड के अधिकारियों का यह दावा है कि जीरो से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पाने में बुलेट ट्रेन को जहां 55.4 सेकंड का समय लगता है,स्वदेशी तकनीक से विकसित वहीं वंदे भारत इस रफ्तार को मात्र 54 सेकंड में पा कवर कर लेती हैं।

रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि वंदे भारत काफी अपग्रेडेड है। यही कारण है कि इसकी रफ्तार काफी बेहतर है। यह इंजन नहीं बल्कि स्वचालित मोटरों की सहायता से चलती है। 16 कोच वाली इस ट्रेन के पांच कोच में मोटर लगी होती हैं। स्वचलित मोटरों की मदद से ही त्वरित रफ्तार अधिक होती है। बुलेट ट्रेन के आगे लगे एक इंजन पर वंदे भारत के पूरे ट्रेन में लगी 20 मोटर से ज्यादा कारगर होती है।



अभी वंदे भारत ट्रेन की स्पीड 160 किलोमीटर प्रतिघंटा है। नया वाला वर्जन 180 किमी प्रतिघंटा होगा। जबकि चरणबद्ध तरीके से साल 2025 तक अपग्रेडेड वर्जन अब 260 किमी प्रतिघंटा से दौड़ेगी। इस लिहाज से दिल्ली से पटना तक की दूरी महज 4-5 घंटों में ही तय कर ली जाएगी। अभी राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन को 12 घंटे से अधिक का समय लगता है।

Leave a Reply