नजीराबाद के अशोक नगर में रसोई मसाला कारोबारी की पत्नी आंचल अपने इकलौते बेटे के दूसरे जन्मदिन को लेकर बेहद उत्साहत थी लेकिन उसे क्या मालूम था इससे पहले ही वह मौत की नींद सो जाएगी। रविवार को मासूम बेटे अयांश के जन्मदिन पर जब मां की अर्थी उठी तो हर आंख नम हो गई और दिल में गम नजर आया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव मायके वालों को सौंप दिया था और रविवार की सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार कराया गया। वहीं घटना संज्ञान में लेकर राज्य महिला आयोग की टीम भी पहुंच गई।

काकादेव में रहने वाले पवन ग्रोवर की बेटी आंचल की शादी तीन साल पहले अशोक नगर निवासी रसोइ मसाला कारोबारी सूर्यांश खरबंदा से हुई थी। शादी के बाद उसे बेटा हुआ था और आंचल ने उसका नाम अयांश रखा था। शनिवार को आंचल की संदिग्ध हालात में मौत एक राज बन गई है और मायके वालों ने ससुरालीजनों पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। घरवालों ने बताया कि आचंल का बेटे अयांश का रविवार को जन्मदिन है और वह दो साल का हो गया है। यह संयोग ही है कि जिस बेटे की जन्म दिन को लेकर आंचल महीनों से योजनाएं बना रही थी, उसी दिन उसकी अर्थी उठी है। मां की मौत से अनजान अयांश दिन भर नाना-नानी और मामा की गोद में खोलता रहा।

आंचल के बेटे अयांश का जन्म 21 नवंबर 2019 को हुआ था। मां रीना ग्रोवर ने बताया कि जब से आंचल शादी के बाद बच्चा नहीं चाहती थी, लेकिन सूर्यांश की जिद के आगे वह झ़ुक गई। अयांश के जन्म के बाद सूर्यांश का व्यवहार पूरी तरह से बदल गया और वह बेटे का जरा सा भी खयाल नहीं रखता था। यहां तक कि 12 नवंबर की घटना के बाद से बने माहौल में आंचल बेटे के जन्मदिन को लेकर बहुत चिंतित थी। उसने जो योजनाएं बनाई थीं, वह पूरी होती नहीं दिखाई दे रही थी।

मगर किसे पता था कि बेटे के जन्म दिन से एक दिन पहले ही वह इस दुनिया को छोड़ देगी। जिस दिन बच्चे का जन्म दिन होगा, उसकी दिन उसकी अर्थी उठेगी। मां की मौत से अनजान अयांश दिन भर ननिहाल वालों की गोद में खेलता रहा। कई बार मां के बारे में पूछा, लेकिन लोग टाल देते। रविवार को जब मां की अर्थी उठी तो सिर से मामता का छाया उठने से अनजान मासूम अयांश को देखकर सभी की आंखे भर आईं और दिल में गम उमड़ता रहा।

Leave a Reply