हेलीकॉप्टर क्रैश में मारे गए सीडीएस बिपिन रावत का पार्थिव शरीर आज दिल्ली लाया जाएगा. बुधवार की दोपहर तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए हेलीकॉप्टर हादसे में देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानी सीडीएस जनरल बिपिन रावत की मौत हो गई थी. उनके साथ पत्नी मधुलिका रावत का भी निधन हो गया था. आज जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी का पार्थिव शरीर सेना के विमान से दिल्ली लाया जाएगा. दिल्ली स्थित उनके आवास पर अंतिम दर्शन के लिए उनके पार्थिव शरीर को रखा जाएगा.

सीडीएस जनरल बिपिन रावत का अंतिम संस्कार शुक्रवार को दोपहर 2:00 बजे के बाद किया जाएगा. शुक्रवार की सुबह 11:00 बजे से लेकर 2:00 बजे तक लोग जनरल रावत को अंतिम सलामी दे पाएंगे. जनरल रावत का अंतिम संस्कार दिल्ली के कैंटोंमेंट स्थित ब्रार स्क्वायर श्मशान घाट पर किया जाएगा. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अन्य लोग उन्हें श्रद्धांजलि देंगे. जनरल बिपिन रावत उत्तराखंड के रहने वाले थे. उनके गृह राज्य उत्तराखंड में 3 दिनों के राजकीय शोक की घोषणा की गई है. उनके निधन पर प्रधानमंत्री के अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और देश के अन्य बड़े नेताओं ने शोक संवेदना जताई है.

आपको बता दें कि बुधवार को सीडीएस जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर उस वक्त हादसे का शिकार हो गया था. जब वह अपनी पत्नी मधुलिका रावत समेत 111 अन्य लोगों के साथ नीलगिरी हिल्स के वेलिंगटन स्थित डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज के स्टाफ कोर्स और अन्य अधिकारियों को संबोधित करने के लिए जा रहे थे. तमिलनाडु के कुन्नूर के पास सैन्य हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो गया. इस हादसे में जनरल बिपिन रावत की मौत हो गई.

Leave a Reply