देश में कोरोना वायरस के नए केसों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। शुक्रवार सुबह बीते एक दिन का जो आंकड़ा सामने आया है, उससे ऐसा लगता है कि कोरोना की तीसरी लहर अपने पीक की ओर बढ़ रही है। देश भर में 2 लाख 64 हजार से ज्यादा नए केस मिले हैं। इसके साथ ही देश भर में सक्रिय कोरोना मामलों की संख्या तेजी से बढ़ते हुए 12,72,073 हो गई है। राहत की बात यह है कि इसी एक दिन में 1 लाख 9 हजार से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात भी दी है। वहीं ग्रोथ रेट भी बहुत ज्यादा नहीं है। गुरुवार को देश भर में 2.47 लाख मामले मिले थे।

बीते एक सप्ताह तक केसों में तेजी से इजाफा देखने को मिला था और नए केस मिलने का आंकड़ा 1 लाख से बढ़कर ढाई लाख तक पहुंच गया था। लेकिन अब यह संख्या बताती है कि भले ही कोरोना केसों में तेजी जारी है, लेकिन रफ्तार थोड़ी थमी है। दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने भी गुरुवार को कहा था कि यदि नए केसों की रफ्तार धीमी होती है तो प्रतिबंधों में ढील दी जा सकती है। यही नहीं उनका कहना था कि दिल्ली में नए केसों की रफ्तार में बहुत तेजी देखने को नहीं मिल रही है। कोरोना के जो नए केस मिल रहे हैं, उसमें पुराने वैरिएंट का ही ज्यादा योगदान है।

ओमिक्रॉन वैरिएंट के फिलहाल देश में 5,753 मामले ही हैं, जो गुरुवार को 5400 के पार थे। इस तरह देखें तो एक दिन में ओमिक्रॉन वैरिएंट के 300 केस ही मिले हैं, जबकि अन्य वैरिएंट्स के 2 लाख 64 हजार के करीब मामले पाए गए हैं। कोरोना के नए केसों में तेज इजाफे ने डेली पॉजिटिविटी रेट को बढ़ाते हुए 14.78 पर्सेंट तक पहुंचा दिया है। इसके अलावा वीकली पॉजिटिविटी रेट 11.83 फीसदी हो गया है। हालांकि कोरोना से निपटने के लिए देश में वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज है। अब तक 3 करोड़ से ज्यादा किशोरों ने कोरोना टीके की पहली डोज ले ली है। देश भर में अब तक 155 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीके लगाए जा चुके हैं।

Leave a Reply