Chandra Grahan 2021: 19 नंवबर को यानी कि आज इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है. यह चंद्र ग्रहण कई मायनों में बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. दरअसल, यह चंद्र ग्रहण कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को लग रहा है, जिसे कार्तिक पूर्णिमा भी कहते हैं. सबसे खास बात यह है कि इसी दिन कार्तिक मास समाप्त हो रहा है. 

सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण

यह इसलिए भी बेहद खास है क्योंकि ऐसा चंद्र ग्रहण 580 साल के बाद लगने जा रहा है. इसे सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण माना जा रहा है. यह चंद्र ग्रहण पिछले 580 साल का सबसे लंबा आंशिक चंद्र ग्रहण होगा. ग्रहण की अवधि करीब साढ़े 3 घंटे की रहेगी. भारत में यह चंद्र ग्रहण दोपहर को 12:48 बजे से 04:17 मिनट तक रहेगा.

नहीं लगेगा सूतक

चंद्र ग्रहण किस राशि में लगेगा

इस बार का चंद्र ग्रहण वृषभ राशि में लगने जा रहा है. इसलिए सबसे अधिक प्रभाव वृषभ राशि वालों पर देखने को मिलेगा. इसके अलावा चंद्र ग्रहण कृत्तिका नक्षत्र में लग रहा है. ज्योतिष शास्त्र की मानें तो कृत्तिका नक्षत्र सूर्य का नक्षत्र माना जाता है. इसलिए जिन लोगों का जन्म कृत्तिका नक्षत्र में हुआ है, उन्हें सावधानी बरतने की जरूरत है.

सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण

वृषभ- इस बार का चंद्र ग्रहण वृषभ राशि में ही लग रहा है इसलिए आपको सावधान रहने की खास जरूरत है. विवादों से दूर रहें, तनाव से बचे रहेंगे. गाड़ी चलाते वक्त खास सावधानी बरतें. क्रोध, अहंकार और भ्रम की स्थिति से दूर रहने का प्रयास करें.

सिंह- चंद्र ग्रहण कृत्तिका नक्षत्र में लग रहा है. कृत्तिका नक्षत्र के स्वामी सूर्य हैं. सूर्य आपकी भी राशि के स्वामी हैं. इसलिए स्वभाव में विनम्रता और वाणी में मधुरता बनाए रखें. अधिकारों का गलत प्रयोग न करें. 

इन बातों का रखें ख्याल

वैसे तो इस ग्रहण का असर भारत में देखने को नहीं मिलेगा, लेकिन जानकार चंद्र ग्रहण के दौरान भगवान का ध्यान करने की सलाह देते हैं. ग्रहण खत्म होने पर स्नान करें और अगर आप गर्भवती हैं तो आपको विशेष ख्याल रखने की जरूरत

Leave a Reply