झारखंड के लातेहार की रहनेवाली ढ़ाई साल की आरूही ने कैंसर से जंग जीत ली है. वाराणसी में स्थित बीएचयू मेडिकल कॉलेज में सफल इलाज के बाद वह घर लौट आई है. उसकी जिंदगी महफूज रखने के लिए लातेहार और आस-पास के लोगों ने क्राउड फंडिंग के जरिए राशि जुटाई थी.

स्थानीय लोगों के अभियान का असर रहा कि उनकी आवाज सरकार तक भी पहुंची और लातेहार के उपायुक्त की पहल पर मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना से चार लाख रुपये की राशि मंजूर हुई.

परिवार के लिए लाखों की राशि जुटाना था मुश्किल
लातेहार जिला अंतर्गत बरवाडीह प्रखंड के गढ़वाटांड़ निवासी मनोज कुमार छोटा-मोटा काम करके किसी तरह घर की गाड़ी खींच रहे थे. पिछले साल अगस्त में उनके पांवों के नीचे की जमीन तब खिसक गई, जब उन्हें पता चला कि उनकी दो साल की बेटी आरूही को ब्लड कैंसर है. उसे वाराणसी में बीएचयू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में एडमिट कराया तो उसके इलाज के लिए जब लाखों का खर्च बताया गया तो उनके लिए मुश्किल यह थी कि जब घर का खर्च ही किसी तरह चल रहा है तो बच्ची की जिंदगी बचाने के लिए पैसे कहां से जुटायें.

क्राउड फंडिंग अभियान चलाकर जुटाए गए पैसे
ऐसे वक्त में सामाजिक कार्यों से जुड़ी संतोषी शेखर ने गत 13 अगस्त 2021 को सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर लोगों से मदद की गुहार लगाई. इसके बाद पलामू के एफएमसीजी ग्रुप और अलग-अलग संस्थाओं ने क्राउड फंडिंग अभियान चलाकर पैसे जुटाए. बाद में लातेहार के उपायुक्त अबू इमरान ने भी मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना से 4 लाख की राशि मंजूर कराई. उन्होंने मनोज कुमार को भरोसा दिलाया कि उनकी बच्ची की जान बचाने के लिए हरसंभव प्रयास होगा.

आखिरकार लगभग लगभग 6 माह के इलाज के बाद आरूही पूरी तरह स्वस्थ हो गई है. दवाइयां अब भी चल रही हैं. उसे प्रत्येक तीन माह पर जांच के लिए बीएचयू जाना होगा. आरूही के पिता मनोज कुमार लोगों से मिली मदद के लिए आभार जताते हैं. उनका कहना है कि आरूही अब सिर्फ उनकी नहीं, पूरे समाज की बेटी बन गई है.

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply