शिवहर विद्युत विभाग के संविदा कर्मी अभिजीत तिवारी का घोड़े पर सवार होकर बिजली बिल वसूला विद्युत विभाग को नागवार गुजरा है। विभाग ने अभिजीत के घोड़े पर सवार होकर बिजली बिल वसूलने पर लगाम लगा दिया है और उसकी संविदा रद्द कर दी है।

बताते चलें कि पेट्रोल की कीमत बढ़ने के साथ ही अभिजीत रोजाना घोड़े पर सवार होकर बिजली बिल वसूली कर रहे थे। अभिजीत को इस पहल ने उन्हें घोड़े वाले बिजली बाबू बना दिया था। अभिजीत मूल रूप से शिवहर प्रखंड के विशनपुर किशन देव गांव के रहने वाले हैं।

अभिजीत के पिता शिव शंकर तिवारी ने शौक से घोड़ा पाल रखा है। सरैसा नस्ल के इस घोड़े पर रोजाना महज 60 से 70 रुपये खर्च होता है। अभिजीत ने बताया कि रोजाना बिल वसूली में करीब 150 रुपए का पेट्रोल खर्च हो जाता था। दुर्गम रास्ते पर परेशानी भी होती थी।

घर पर घोड़ा रहने के कारण अभिजीत घुड़सवारी भी जानते हैं। यही वजह है कि बाइक खड़ी कर घोड़े पर सवार होकर बिल वसूलना शुरू कर दिया। अभिजीत इसे लेकर इलाके में चर्चा का केंद्र बन गए। अभिजीत की पहल को लोगों ने सराहा लेकिन विद्युत विभाग को यह नागवार गुजरा और विभाग ने नौकरी से हटा दिया।

© TEAM.

Leave a Reply