बिहार में छठ पूजा को लेकर तैयारी शुरू हो गई है. हालांकि लोगों अभी भी कोरोना से डरे हुए हैं. इसी बीच कोरोना को ध्यान म रखते हुए नीतीश सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है. इस दौरान त्यौहार में घर वापस आ रहे लोगों को लेकर सरकार की टेस्टिंग और ट्रेसिंग को लेकर बड़ी प्लानिंग है. 

इस दौरान बच्चों और बड़ों के साथ व्रतियों के लिए अलग-अलग नियम होंगे. इस नियम का सख्ती से पालन कराने को लेकर घाटों पर CCTV के साथ वाच टावर भी बनाए गए हैं.वहीं, व्रतियों को लेकर विशेष रूप से गाइडलाइन होगी, जिसमें छठ के दौरान गंगा में डुबकी लगाने पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है. इस बार राज्य सरकार अधिक से अधिक लोगों से घर में ही छठ पर्व मनाने की अपील कर सकती है. इसके अलावा घाटों पर गंगा के बढ़ते जलस्तर के कारण सरकार ये फैसला ले सकती है. 

कोरोना के खतरे की वजह से छोटे बच्चों को घाट पर जाने से रोका जा सकता है. जबकि बड़े लोगों के लिए मास्क का नियम प्रभावी रहेगा और घाट पर लोगों से सोशल डिस्टेंस के नियम का पालन करना होगा. व्रतियों को भी उपासना के साथ बचाव को लेकर सोशल डिस्टेंस में अर्घ्य देने का नियम होगा. 

Leave a Reply