उत्तर बिहार में फिर से गैंगवार की आशंका बन रही है। श्रीनारायण सिंह की हत्या के बाद बदले की फिराक में लगे शहर के एक बड़े गिरोह और विकास झा उर्फ कालिया के गैंग के बीच टसल बढ़ रही है।

इधर, कालिया गैंग के शूटर के निशाने पर उत्तर बिहार के कई ठेकेदार और व्यवसायी हैं। तिहाड़ जेल से कालिया को लाने के लिए चल रही प्रक्रिया के मद्देनजर खुफिया विभाग की ओर से अलर्ट किया गया है। पुलिस टीम विकास झा उर्फ कालिया के शूटर और विरोधी गिरोह की गतिविधियों को लेकर खुफिया जानकारी जुटा रही है।

संतोष झा की सीतामढ़ी में पेशी के दौरान हत्या कर दी गई थी जिसके बाद विकास झा उर्फ कालिया ने गैंग की कमान संभाल ली। संतोष झा की हत्या के बदले में कालिया ने शिवहर में श्रीनारायण सिंह और अहियापुर में उसके भाई नवल सिंह की हत्या को अंजाम दिया।

अब कालिया गैंग मोतिहारी, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, वैशाली समेत उत्तर बिहार में अपना दबदबा बढ़ा रहा है। उसके शूटर लगातार वारदात को अंजाम दे रहे हैं। इस गैंग के निशाने पर उत्तर बिहार के कई ठेकेदार और व्यवसायी हैं। श्रीनारायण सिंह के साथी गैंगस्टर को अपने वर्चस्व पर खतरा मंडरा रहा है। इससे कालिया गैंग को रोकने के लिए सीधा टकराव की स्थिति बन रही है।

तिहाड़ जेल में बंद कालिया अपने गैंग के शूटर विशाल झा उर्फ राजा, विजय झा, कन्हैया सिंह, मुकुल मिश्रा, अभिषेक, बाबुल, रघु आदि से लगातार संपर्क में रहा है। कालिया को तिहाड़ जेल से लाने को लेकर शुरू हुई कवायद के बीच पुलिस ने उसके शूटर की तलाश भी तेज कर दी है।

इसके साथ ही एसटीएफ श्रीनारायण के करीबी रहे गैंगस्टर और उससे जुड़े शूटर की भी गतिविधि को देख रही है। इस गिरोह ने शराब के धंधे से बड़ी राशि जुटा ली है जिससे हथियारों का जखीरा भी इस गैंग के पास जमा हो चुका है। पुलिस ने इस गिरोह के शूटर की भी सूची बनाई है।

विकास झा उर्फ कालिया के गैंग पर पुलिस टीम काम कर रही है। इस गैंग के चिह्नित शूटर के घर पर अबतक कई बार छापेमारी हो चुकी है। सभी फरार चल रहे हैं। इसके विरोधी गैंग पर भी दबिश डाली जा रही है। इस गैंग के भी शूटर की सूची बनाकर काम किया जा रहा है। गैंगवार की खुफिया अलर्ट नहीं है। – जयंतकांत, एसएसपी

Input : Hindustan.

Leave a Reply