कोरोना के तीसरी लहर के मद्देनजर सरकार कई स्तर पर कार्य कर रही है. कोरोना की रोकथाम और संक्रमितों के इलाज के लिए स्वास्थ्य महकमा तत्परता से जुटा है, कई कोरोना मरीजों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है

इसके लिए सरकारी स्तर पर एंबुलेंस लगाये गए हैं. सिविल सर्जन डॉ सुरेश चंद्र लाल ने बताया कि निजी एंबुलेंस वाले मनमाना किराया वसूल नहीं कर सके, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर एंबुलेंस के लिए किराया निर्धारित किया गया है. तय दर से अधिक किराया लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. एंबुलेंस संबंधित किसी तरह की शिकायत दर्ज करने के किए टॉल फ्री नंबर (06202751107) भी जारी की गयी है,

50 किमी. तक 1500 से 2500 रुपये किराया तथ. कोरोना महामारी के दौरान गत वर्ष भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा निजी एंबुलेंस के लिए किराया तय किया गया था. कोरोना की तीसरी लहर के कारण उत्पन्न स्थिति को देखकर निजी एंबुलेंस के लिए किराया निर्धारित किया गया है.

50 किमी तक आने-जाने के लिए छोटी कार (सामान्य) के लिए 1500 रुपये, छोटी कार (एसी) के लिए 1700 रुपयेबोलेरो, सुमो व मार्शल (सामान्य) के लिए 1800 रुपये, बोलेरो, सुमो व मार्शल (एसी) के लिए 2100 रुपये, मैक्सी, विंगर, सिटी राइडर, टेंपो, ट्रेवलर व समकक्ष वाहन (14 से 22 सीट) सामान्य के लिए 2500 रुपये, जाइलो, क्वालिस, स्कॉर्पियो व टवेरा (एसी) के लिए 2500 रुपये किराया निर्धारित किया गया है. 50 किलोमीटर से अधिक परिचालन होने पर 18 रुपये से 25 रुपये किलोमीटर का अतिरिक्त किराया देने की बात कही गयी है.

Leave a Reply