जिले के सदर अस्पताल में होने वाला, परिवार नियोजन कार्यक्रम सवालों के घेरे में है। मामला जिले के बथनाहा प्रखंड क्षेत्र के सिंगरहिया का है, जहां अमरेंद्र कुमार की पत्नी 27 वर्षीय अनिता देवी ने बंध्याकरणं करवाया। उसके बाद भी वह गर्भवती हो गईं। इसकी रिपोर्ट भी सदर अस्पताल से जारी की गई है। अंश देवी ने बताया कि गांव की आशा रिंकू कुमारी के साथ सदर अस्पताल सीतामढ़ी में 3 दिसंबर 2021 में अपना बंध्याकरण करवाया था जिसको लेकर गत 1 दिसंबर को अल्ट्रासाउंड करवाया था जिसमें उसे गर्भवती नहीं होने की रिपोर्ट दी गई थी। तब पहले से चार बच्चों की मां अनिता देवी ने बच्चे की चाह छोड़कर 3 दिसंबर को बंध्याकरण करवाया था। लेकिन, तीन माह बाद फिर से वह गर्भवती हो गईं, तो पति-पत्नी और परिवार के लोग सभी परेशान हो उठे हैं।

पीड़ित परिजनों ने स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाया है। साथ ही उसे न्याय देने की मांग की है। अमरेंद्र कुमार ने बताया कि होली से दो तीन दिन पूर्व उसकी पत्नी द्वारा गर्भवती होने की आशंका जताई जिसके बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट किट से जांच की गई तो गर्भवती दिखाया गया। इसके बाद अमरेंद्र पत्नी की 23 मार्च को सदर अस्पताल में अल्ट्रासॉउंड करवाया जिसमें उसे गर्भवती बताया गया। जब उसे इस बारे में जानकारी हुई, तो वो परेशान हो गई। उसने कई बार आशा रिंकू कुमारी को इसकी सूचना दी कि फिर से गर्भवती कैसे हो गई, तो टाल मटोल करने लगी।

अनिता देवी के पति अमरेंद्र कुमार ने बताया कि जब अस्पताल में पता किया कि ऐसा कैसे हो गया कि बंध्याकरण के बाद उसकी पत्नी गर्भवती हो गई, तो सभी ने पल्ला झाड़ना शुरू कर दिया। यहां तक की चिकित्सक के बारे में भी किसी ने बताने से इनकार कर दिया। वहीं, अनिता देवी के

Leave a Reply