सीतामढ़ी में आगामी 8 दिसंबर को सोनबरसा प्रखंड में 10वें चरण के पंचायत चुनाव को लेकर मतदान होना है। इधर, मुखिया फ्रेम रितु जायसवाल और उनके पति सह पंचायत सिंहवाहिनी से मुखिया प्रत्याशी अरुण कुमार पर प्राथमिकी मामले में चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए प्रखंड निर्वाचन पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी ओम प्रकाश यादव को उनके पद से हटा दिया है।

अपने आदेश में राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा है कि 5 दिसंबर से प्रखंड विकास पदाधिकारी ओम प्रकाश यादव को अवकाश पर रखें और निर्वाचन प्रक्रिया के समाप्ति तक उन्हें जिले से बाहर रखने का आदेश जारी करें।

वहीं, चुनाव आयोग ने इससे संबंधित अनुपालन का रिपोर्ट की एक कॉपी 24 घंटे के अंदर भेजने का निर्देश दिया है। चुनाव आयोग के अनुसार प्रखंड विकास पदाधिकारी ओम प्रकाश यादव पर असंवेदनशील और पक्षपातपूर्ण कार्य करने का आरोप है। चुनाव आयोग के निर्देश पर बाजपट्टी प्रखंड विकास पदाधिकारी संजीत कुमार को सोनबरसा प्रखंड विकास पदाधिकारी सह प्रखंड निर्वाचन पदाधिकारी का प्रभार सौंप दिया गया है।

बताते चलें कि वाहन चेकिंग के दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी ओम प्रकाश यादव ने मुखिया फेम रितु जयसवाल और उनके पति अरुण कुमार सहित 150 समर्थकों पर सरकारी कार्य में बाधा डालने हाथापाई करने और दो हज़ार रुपए जेब से निकालने का आरोप लगाते हुए स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाया था।

वहीं, रितु जायसवाल ने वाहन चेकिंग के दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी के मुस्कुराते चेहरे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया था जिससे स्पष्ट पता चल रहा था कि प्रखंड विकास पदाधिकारी ने थाने में झूठा मामला दर्ज करवाया था। इसको लेकर रितु जयसवाल ने वीडियो के साथ चुनाव आयोग से भी शिकायत की थी जिसके बाद चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी को चुनाव कार्य तक उनके पद से हटाते हुए उन्हें इस दौरान जिले से बाहर रखने का निर्देश दिया है।

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply