एंड्रॉइड पर सुरक्षा और गोपनीयता बढ़ाने के लिए, Google एप्लिकेशन यूजर को कॉल रिकॉर्डिंग फीचर रोकने के लिए कड़े कदम उठा रहा है। Google ने अपनी डेवलपर नीतियों को अपडेट किया है जो कई बदलावों को दर्शाता है, जिसमें रिमोट कॉल ऑडियो रिकॉर्डिंग को रोकने के लिए एंड्रॉइड की एक्सेसिबिलिटी सेटिंग्स शामिल हैं।

यह फीचर एंड्रॉइड यूजर के बीच काफी लोकप्रिय है। आइए जानते हैं कि आखिर क्यों बंद हो रहा कॉल रिकॉडिंग फीचर। एक Reddit  यूजर ने बताया कि Google की नई Play Store नीतियों में आने वाले बदलाव किसी भी ऐप को कॉल रिकॉर्ड करने की अनुमति नहीं देंगे। Google कुछ समय से Android पर कॉल रिकॉर्डिंग बंद करने पर जोर दे रहा है।

इसने एंड्रॉइड 6 पर रीयल-टाइम कॉल रिकॉर्डिंग को ब्लॉककर दिया था, जबकि एंड्रॉइड 10 के साथ, Google ने माइक्रोफ़ोन पर इन-कॉल ऑडियो रिकॉर्डिंग को हटा दिया था। हालांकि, कुछ ऐप्स ने एंड्रॉइड 10 और इसके बाद के वर्जन पर चलने वाले कॉल रिकॉर्डिंग करने के लिए एक्सेसिबिलिटी सर्विस तक पहुंचने के लिए एंड्रॉइड में एक खामी पाई।

रिकॉर्डिंग एपीआई तक पहुंच के बिना कोई थर्ड पार्टी ऐप्स कॉल रिकॉर्डिंग नहीं कर पाएंगे । यह फीचर एकदम आईफोन के समान होगा, जिसने कभी भी अपने यूजर को कॉल रिकॉर्डिंग फीचर को पेश नहीं किया है। गूगल जहां 11 मई से लागू होने वाले बदलावों के बारे में जानकारी दी है।

यूजर्स की प्राइवेसी और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक और कारण अलग-अलग देशों में कॉल रिकॉर्डिंग कानून हो सकता है। उदाहरण के लिए, यूएस में, कॉल रिकॉर्डिंग की अनुमति किसी थर्ड पार्टी की सहमति के बाद ही दी जाती है। अफसोस की बात है कि भारत में ऐसा कोई कानून नहीं है, लेकिन कथित तौर पर ऐसे फीचर्स पर काम चल रहा है।

Team.

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply