सीतामढ़ी के मेहसौल चौक स्थित कृष्णा स्वीट्स एवं कैश टेलर के मालिक पर अज्ञात बदमाशों द्वारा की गई गोलीबारी की घटना का उद्भेदन पुलिस ने कर लिया है. घटना में 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. घटना के पीछे पूरे गिरोह का सरगना तुसार रमण गर्लफ्रेंड पर कॉमेंट करना बताया गया है.

शुक्रवार को एसपी हर किशोर राय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया कर्मियों को बताया कि घटना में शामिल अपराधियों के गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम गठित की गई थी. टीम द्वारा लजीज होटल के पीछे छापेमारी कर चार बदमाशों को अग्नियास्त्र के साथ गिरफ्तार किया गया जबकि दो वहां से भाग निकले. चारों ने पूछताछ में कृष्णा स्वीट्स एवं कैश टेलर मास्टर पर हुई गोलीबारी में अपनी संलिप्तता स्वीकार की.

पुलिस द्वारा पुनः छापेमारी की गई जिसमें दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया. घटना के पीछे का कारण तुषार रमण नामक बदमाश की गर्लफ्रेंड पर कमेंट करना बताया गया है. गिरफ्तार अपराधियों ने बताया कि तुषार रमण की गर्लफ्रेंड पर टेलर मास्टर द्वारा कमेंट किया गया था. इसका बदला लेने की भावना से यह फायरिंग की घटना अंजाम दिया. सूत्रों के मुताबिक तुषार रमण की गर्लफ्रेंड अपने प्रेमी के हर अच्छे-बुरे कार्य में उसका साथ देती है.

इस मामले में गिरफ्तार युवकों की पहचान रीगा थाना क्षेत्र के बभंगामा निवासी अमित देव का पुत्र तुषार रमण, कुसमारी निवासी विनोद महतो का पुत्र अरुण भूमि, मोतिहारी जिले का ढाका थाना क्षेत्र निवासी सुबोध सिंह का पुत्र शिवम कुमार, डुमरा थाना क्षेत्र का निवासी गोपाल सिंह के पुत्र श्रीप्रकाश, शहर के रघुनाथपुरी मोहल्ला निवासी आलोक सिंह का पुत्र शिवम कुमार एवं लालबाबू सिंह का पुत्र आलोक राज के रूप में हुई है.

पुलिस ने तुषार रमन की गर्लफ्रेंड और तुसार रमण की मां को भी गिरफ्तार कर लिया है. सभी आठ को न्यायिक हिरासत में जेल भेजा जा रहा है. पुलिस ने घटना में उपयोग किए गए एक देसी पिस्टल, देसी कट्टा, कुल चार जिंदा कारतूस और दो चाकू को बरामद किया है.

पूरे मामले का उद्भेदन और सभी की गिरफ्तारियों में नगर थानाध्यक्ष विकास कुमार राय, मेहसौल ओपी प्रभारी जितेंद्र कुमार सुमन, तकनीकी शाखा प्रभारी सुबोध कुमार, सिपाही ओम प्रकाश राय, सिपाही राम बाबू राम एवं सीतामढ़ी थाना के स्वतंत्र बल शामिल थे.

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply