अगर आप उज्ज्वला योजना के लाभार्थी नहीं हैं तो 200 रुपये की सब्सिडी नहीं मिलेगी। पेट्रोलियम सचिव पंकज जैन ने उज्जवला योजना से जुड़े कन्फ्यूजन को दूर करते हुए ये बात बताई है।

पेट्रोलियम सचिव पंकज जैन ने कहा कि जून, 2020 के बाद से रसोई गैस पर कोई सब्सिडी नहीं दी जा रही है। सिर्फ बीते 21 मई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की तरफ से उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को सब्सिडी देने की घोषणा ही लागू है।

दरअसल, निर्मला सीतारमण ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की घोषणा करने के साथ ही उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को साल भर में 12 गैस सिलेंडर पर 200 रुपये प्रति सिलेंडर की सब्सिडी देने का भी ऐलान किया था।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों के बैंक खाते में प्रत्येक सिलेंडर की बुकिंग के बाद सरकार 200 रुपये की सब्सिडी भेजेगी। इस तरह उनके लिए एक सिलेंडर की प्रभावी कीमत 803 रुपये रह जाएगी।

हालांकि, उज्ज्वला योजना के तहत पंजीकृत नौ करोड़ लाभार्थियों को ही गैस सब्सिडी मिलेगी। बाकी 21 करोड़ से अधिक गैस कनेक्शन धारकों को बाजार दर पर ही गैस सिलेंडर खरीदना होगा।

वहीं, पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इस रिपोर्ट को नकार दिया कि उज्ज्वला योजना के लाभार्थी पहला गैस सिलेंडर खत्म होने के बाद उसे भरवाने के लिए कम संख्या में आगे आ रहे हैं।

बीते दिनों ऐसी रिपोर्ट आई थी कि साल भर में सिर्फ एक गैस सिलेंडर भरवाने वाले उपभोक्ताओं की संख्या वर्ष 2019-20 के 1.81 करोड़ से घटकर 2021-22 में 1.08 करोड़ पर आ गई। इसके साथ ही साल भर में औसतन 3.68 सिलेंडर की प्रति व्यक्ति खपत हुई।

Input : Hindustan.

Leave a Reply