बिहार में एक अजीबोगरीब प्रेम कहानी सामने आई है. पश्चिम चंपारण जिले में विधवा बहन को अपने छोटे भाई से ही प्रेम (Brother-Sister Love Story) हो गया. दोनों के बीच इश्‍क का रंग इतना गहरा है कि उन्‍होंने अलग-अलग रहने तक से इनकार कर दिया. दोनों एकसाथ ही जीना-मरना चाहते हैं, लेकिन परिवारवालों और समाज को उन दोनों का प्‍यार कबूल नहीं हुआ. परिजनों ने दोनों को सजा देने की नीयत से पंचायत बुलाई, जिसपर प्रेमी युगल (Couple) ने थाने पहुंच कर सुरक्षा मुहैया कराने और परिजनों एवं अन्‍य से बचाने की गुहार लगा दी. पुलिस के हस्‍तक्षेप के बाद प्रेमी जोड़े को स्‍थानीय लोगों के चंगुल से छुड़ाया जा सका. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि शादी करना व्‍यक्तिगत पसंद की बात है और इसमें गलत तरीके से हस्‍तक्षेप करना सही नहीं है. यदि किसी ने कानून को हाथ में लिया तो उनके खिलाफ विधिसम्‍मत कार्रवाई की जाएगी. वहीं, परिजन और स्‍थानीय लोग मान-मर्यादा की दुहाई देकर इस संबंध को गलत करार दे रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भाई-बहन के बीच प्रेम कहानी का यह मामला बेतिया के बानुछापार मोहल्‍ले की है. दरअसल, महिला के पति की तकरीबन 1 साल पहले मौत हो गई थी. इसके बाद उनका उम्र में 4 साल छोटेअपने ही मौसेरे भाई के साथ प्रेम संबंध स्‍थापित हो गया. दोनों के बीच का प्‍यार इस कदर परवान चढ़ा कि उन्‍होंने साथ जीने और साथ मरने का फैसला कर लिया. परिजनों ने इस पर सख्‍त ऐतराज जताते हुए इस प्रेम संबंध को मानने से ही इनकार कर दिया. दूसरी तरफ, दोनों शादी कर पूरी उम्र एकसाथ गुजराने पर आमादा थे. परिजनों का कहना है कि जब उन्‍हें इसके बारे में पता चला तो उन्‍होंने दोनों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने. इसके बाद परिजनों ने दोनों को सजा देने के उद्देश्‍य से पंचायत बुलाई. इसमें दोनों के बाल मूंड कर उन्‍हें गांव में घुमाने पर सहमति बनी थी. प्रेमी जोड़े ने समय रहते ही इसकी सूचना स्‍थानीय पुलिस को दे दी.

मामले में आया नया ट्विस्‍ट
पुलिस की एंट्री से मामले में नया ट्विस्‍ट आ गया. पुलिस ने जानकारी मिलते ही तत्‍परता के साथ मौके पर पहुंच गई और प्रेमी जोड़े को स्‍थानीय लोगों के चंगुल से छुड़ा लिया. इसके बाद दोनों को थाने लाया गया. ‘दैनिक जागरण’ की खबर के अनुसार, पुलिस अधिकारी ने ग्रामीणों को समझाया कि सबको कानूनन आपसी सहमति से शादी करने का अधिकार है. साथ ही चेतावनी भी दी की यदि किसी ने उन्‍हें प्रताड़ित किया तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply