सीतामढ़ी शहर में आए दिन भ्रूण हत्या के मामले सामने आ रहे हैं बावजूद इसके कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो रही है। शहर में अवैध रूप से संचालित होने वाले नर्सिंग होम पर कार्रवाई महज ढकोसला साबित हो रही है।

दरअसल रविवार की सुबह शहर के लीची बागान रोड में करीब 7 माह का एक भ्रूण क्षत-विक्षत अवस्था में पाया गया। भ्रूण को कुत्ते नोच कर खाने की कोशिश कर रहे थे। सड़क किनारे पड़े भ्रूण को देखने लोगों की भीड़ लग गई।

इसी बीच शहर के चकमहिला निवासी सह समाजसेवी राघव गुप्ता ने भ्रूण को उठाया और डूमरा स्थित सिविल सर्जन के कार्यालय पहुंच गया। रविवार होने के कारण सिविल सर्जन का कार्यालय बंद मिला तो मीडिया कर्मियों को बुला कर इसकी जानकारी दी।

डुमरा पीएचसी में पहुंचकर युवक द्वारा जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों को जानकारी दी गई। करीब एक घंटे तक इंतजार करने के बावजूद कोई पुलिसकर्मी नहीं आया। थक-हारकर राघव ने नवजात सबको सीतामढ़ी शहर में ले जाकर कहीं दफना दिया।

आपको बता दें कि सीतामढ़ी शहर में अवैध रूप से संचालित नर्सिंग होम एवं गैर कानूनी ढंग से होने वाले भ्रूण हत्या पर जिला प्रशासन की ठोस रणनीति नहीं होने के कारण ऐसे मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। इससे पूर्व भी सीतामढ़ी शहर स्थित सदर अस्पताल के कंपाउंड पर एक भ्रूण मिलने से हड़कंप मचा था।

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply