सीतामढ़ी जिले के सोनबरसा प्रखंड अंतर्गत मधेसरा पंचायत के एराजी मोहनपुर निवासी दिनेश महतो के पुत्र अविनाश कुमार ने भारतीय चिकित्सा परिषद द्वारा संचालित नीट की परीक्षा में 623 अंक प्राप्त कर 3909 रैंक के साथ सफलता का परचम लहराया है.

कहते हैं न सफलता किसी परिचय का मोहताज नहीं होती यह उसी का हो जाता है जो कड़ी परिश्रम इसे पाने का प्रयास करता है। अविनाश कुमार अपने दादा रामकिशोर महतो के सपनो को पूरा करने के लिए कोटा में रहकर अध्ययन किया और इस सफलता को हासिल किया है.

आपको बताते चलें कि अविनाश एमजे इंटरनेशनल विद्यालय सीतामढ़ी से 90 प्रतिशत अंक के साथ दसवीं एवं 93 प्रतिशत अंक के साथ 12वीं पास करने के बाद अपने इस लक्ष्य को प्राप्त किया है.

मध्यवर्गीय परिवार में डॉक्टर बनने का सपना अक्सर सपना ही रह जाता है लेकिन एक किसान पिता अपने परिश्रम से अपने पुत्र को पढ़ाने के लिए हौसला दिखाया, शायद उनको पता था कि उनका पुत्र जो बचपन से होनहार है एक दिन अपने दादा का सपना जरूर पूरा करेगा. परिवार के साथ-साथ पूरे गांव में और और उल्लास का वातावरण है.

अविनाश अपने बड़े पापा सुरेश कुमार को अपना आदर्श मानते हैं, दादी बच्ची देवी ने कहा हमारा परिवार जिस संघर्ष के साथ आज सफलता का परचम लहरा रहा है उससे मुझे गर्व का अनुभूति हो रही है.

छात्र के दादा राजेंद्र महतो दादी सुंदर देवी बताते हैं कि हमारे परिवार के लिए डॉक्टर बनना एक सपना मात्र सा लग रहा था लेकिन आज हमारे पोते ने वह सपना को भी पूरा किया है इस सफलता पर मैं क्या कहूं आशीर्वाद देता हूं कि ऐसे ही आगे बढ़े और डॉक्टर बन के समाज का सेवा करें.

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply