पंचायत चुनाव के नौवें चरण के तहत सीतामढ़ी के परिहार प्रखंड के गोरहारी गांव में करीब डेढ़ दर्जन घरों में लूटपाट एवं तोड़फोड़ मामले में राजद के प्रतिनिधि मंडल ने शनिवार को गांव में जाकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात किया।

इस दौरान ग्रामीणों ने पूर्व सांसद अर्जुन राय को पुलिस द्वारा की गई बर्बरता पूर्ण घटना बताई। इस बाबत रविवार को पूर्व सांसद डॉ अर्जुन राय ने प्रेस वार्ता कर उक्त घटना पर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया है। उन्होंने पुलिस की कार्रवाई को बर्बरता पूर्ण बताया।

उन्होंने कहा कि इस तरह से तो अपराधी भी घर में डाका नहीं डालते जैसे पुलिस ने उत्पात मचाया है। पुलिस का काम जनता की रक्षा करना है। पुलिस ने जिस तरह से कार्रवाई की है वह प्रतिशोध की भावना को दर्शाता है। पुलिस की पिटाई से गांव में एक महिला का हाथ और एक का कुल्हा भी टूट गया है।

डॉ. राय ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने गांव के एक-एक घर में जाकर पीड़ित लोगों से मुलाकात की है। गांव में पुरुष डर से फरार है। उन्होंने एसपी से भी फोन पर बात की है। इस मामले में किसी को भी बिना जांच के गिरफ्तार नहीं करने की मांग की है। सोमवार को राजद का डेलिगेशन मुजफ्फरपुर में आईजी गणेश कुमार से मिलेगा। आईजी गणेश कुमार से मिलकर पुलिस द्वारा किये गए बर्बरता पूर्ण कार्रवाई की जांच की मांग करेंगे।

मौके पर पूर्व सांसद डॉ. अर्जुन राय, राजद जिलाध्यक्ष मो. शफीक खान, युवा राजद के उपाध्यक्ष जल्लाउदीन खान समेत अन्य मौजूद थे। बताते चलें कि 29 नवंबर की रात गोरहारी गांव के दर्जनों घर में तोड़फोड़ और लूटपाट का आरोप पुलिस पर है। इतना ही नहीं, महिलाओं के साथ मारपीट एवं दुर्व्यवहार का भी आरोप लगा है।

बताते चलें कि यह पूरा मामला 29 नवंबर का है जहां पंचायत चुनाव के दिन पुलिस ने बोगस वोट करने के आरोप में एक युवक की पिटाई की थी और हिरासत में ले लिया था। हिरासत में लिए युवक को छुड़ाने के लिए ग्रामीण इकट्ठा हो गए और पुलिस से हाथापाई हो गई। इस दौरान डीएसपी के गाड़ी का शीशा भी टूट गया जिसके जवाब में पुलिस ने हवाई फायरिंग की थी. इसके बाद देर रात पुलिस ने गांव में जमकर उत्पात मचाया और कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया था।

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply