सीतामढ़ी जिले के परसौनी प्रखंड मुख्यालय में शनिवार करीब 4 बजे दो अधिकारी आपस में भीड़ गए. जनता उच्च विद्यालय के प्रधान शिक्षक ने अंचलाधिकारी को ही अपने विद्यालय के गेट में ताला जड़कर दो घण्टे तक बंधक बनाए रखा.

इस दौरान सीओ व प्रधान शिक्षक के बीच, तू-तू, मैं-मैं के साथ एक दूसरे से दुर्व्यवहार भी किया गया है। मामला इतना तूल पकड़ बैठा कि सीओ को मौके पर पुलिस बुलाकर मदद लेनी पड़ी। तनातनी के बीच कुछ भी होने की आशंका लग रही थी।

सीओ राहुल कुमार ने बताया कि पुराना भवन होने से अंचल कार्यालय की छत व दीवार जर्जर हैं। इस कारण जनता उच्च विद्यालय के खाली छात्रवास के एक कमरे में तत्काल उनका कार्यालय संचालित हो रहा है। विद्यालय के प्रधान शिक्षक को यह नागवार गुजर रहा था।

सीओ ने कहा कि इसी बीच शनिवार को छात्रावास से काम कर लौट रहे थे तो प्रधान शिक्षक मो. सलाउद्दीन ने अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए विद्यालय के गेट में ताले जड़ दिए और बाहर नहीं निकलने दे रहे थे। इसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। कहा कि बात जब ज्यादा बढ़ गई तो पुलिस को बुलाना पड़ा।

उधर, प्रधान शिक्षक सलाउद्दीन ने कहा कि बिना वरीय पदाधिकारी के आदेश से छात्रावास में अंचल कार्यालय चल रहा है। अंचल कार्यालय चलने से लोगों व पदाधिकारी का आना-जाना लगा रहता है। विद्यालय का समान चोरी होते रहता है। इसपर वरीय पदाधिकारी से हमेशा फटकार मिलती रहती है।

प्रधान शिक्षक ने आरोप लगाया कि शनिवार को सीओ के कुछ गुर्गे द्वारा जबरन कार्यालय चलाने की बात कहकर उनसे गाली गलौच की गई। विरोध किया तो सीओ व उनके कुछ आदमी द्वारा दुर्व्यवहार किया गया। जिसपर मेनगेट का ताला जड़ दिया और फैसला नहीं होने तक ताला नहीं खोलने की बात कही।

हालांकि, पुलिस ने बीच-बचाव कर मामले को शांत कराया। मामले को लेकर पहुंचे एएसआई रामानुज प्रसाद यादव ने कहा कि दोनों पदाधिकारी के बीच तत्काल मामला शांत करा दिया गया है।

Input : Jagran.

Leave a Reply