पाकिस्तान की तरफ से भारत पर उसके एयरस्पेस के उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया था. दावा किया गया कि पाकिस्तान में 124 किलोमीटर अंदर भारत की तरफ से आ रहा ऑब्जेक्ट खानेवाल जिले में जा गिरा. अब भारत सरकार की तरफ से इस पर स्पष्टीकरण आ गया है. जोर देकर कहा गया कि तकनीकी खराबी की वजह से एक मिसाइल फायर हुई थी. इस मामले में कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दिए गए हैं.

पाकिस्तान में गिरी मिसाइल, भारत का जवाब आया भारत सरकार ने अपने जवाब में कहा है कि 9 मार्च को एकरूटीन मेंटेनेंस के दौरान तकनीकी खराबी की वजह से मिसाइल फायर हो गई थी. भारत सरकार ने इस मामले का संज्ञान लिया है और जांच के आदेश दे दिए हैं.

सरकार के मुताबिक वो मिसाइल पाकिस्तान के क्षेत्र में जा गिरी थी. लेकिन इसमें किसी भी नागरिक की जान नहीं गई है. अब जिस विवाद को भारत सरकार ने सिर्फ एक गलती करार दिया है, पाकिस्तान में इसके लेकर जबरदस्त बवाल है. वहां की सरकार से लेकर मीडिया तक, हर कोई इस घटना को भारत की आक्रमकता के तौर पर दिखा रहा है.

पाकिस्तानी अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा है कि भारत को इसके लिए जिम्मेदारी लेनी होगी. उन्होंने कहा, ‘भारत को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाना ही चाहिए. इस घटना पर भारत के स्पष्टीकरण के बाद हम अपना अगला कदम उठाएंगे.’

अब भारत की तरफ से वो स्पष्टीकरण दे दिया गया है लेकिन पाक ने कोई जवाब नहीं दिया है. पाकिस्तान ने क्या कहा था? वैसे इस घटना के बारे में मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने भी विस्तार से बताया था. उन्होंने कहा था कि शाम 6.43 बजे पाकिस्तान वायु सेना [PAF] के एयर डिफेंस ऑपरेशन सेंटर द्वारा भारत के क्षेत्र के अंदर एक तेज गति से उड़ने वाले ऑब्जेक्ट को देखा गया. उनके मुताबिक करीब सात मिनट बाद वो चन्नू के पास गिर गया.

INPUT : AAJTAK.

Leave a Reply