jel

राज्य के जेल में बंद किसी भी कैदी से अब एक सप्ताह में एक बार ही फिजिकल या वर्चुअल तरीके से मुलाकात हो सकेगी. यह व्यवस्था 15 नवंबर से शुरू हो जायेगी. कैदी के परिजन फिजिकल तरीके से मसलन जेल गेट पर जाकर मुलाकाती कक्ष में मुलाकात कर सकते हैं या फिर वीडियो के माध्यम से बात कर सकते हैं. मुलाकाती कक्ष में जाकर मुलाकात करने वाले परिजनों को कोविड प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करना होगा. खास बात यह कि मुलाकाती के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया से गुजरना होगा और फिर उन्हें बंदी से मिलने का दिन व समय दिया जायेगा.

कैसे करना होगा रजिस्ट्रेशन

रजिस्ट्रेशन के लिए एनपीआइपी के पोर्टल eprisons.nic.in पर जाना होगा. यहां इ-मुलाकात का विकल्प आयेगा और उसे क्लिक करने पर कई विकल्प भरने के लिए आयेंगे. इसके बाद वीडियो व फिजिकल में से एक पर क्लिक करना होगा. इन सभी जानकारी को सबमिट करने के बाद एक ओटीपी आपके मोबाइल नंबर पर आयेगा. उसे भी देना होगा. इसके बाद इ-मेल आइडी पर मुलाकात का दिन व समय आ जायेगा.

मुलाकात के लिए करानी होगी ऑनलाइन बुकिंग

बिहार के विभिन्न जिलों में अब बंद कैदियों से मुलाकात के लिए ऑनलाइन बुकिंग करानी होगी. जिनके पास एंड्राइड मोबाइल ऑनलाइन बुकिंग के लिए नहीं होगा, उन लोगों के लिए गांव में ग्राहक सेवा केंद्र पर भी इसकी बुकिंग करायी जा सकती है. पटना के बेऊर जेल से इस प्रक्रिया का शुभारंभ छठ पूजा बाद शुरू कर दिया जायेगा. केंद्रीय कारा बेऊर के कारा अधीक्षक जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि इस प्रक्रिया को शुरू करने वाला बिहार पहला राज्य होगा, जिसके माध्यम से जेलों के अंदर स्लॉट बुक करके फिजिकल मुलाकात की व्यवस्था होगी.

Leave a Reply