सीतामढ़ी शहर के मेहसौल चौक पर मंगलवार की सुबह-सुबह आक्रोशित लोगों ने टायर जलाकर सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। सोमवार को शहर के मेहसौल ओपी के हाजत में हुई मौत मामले में परिजन आक्रोशित है।

परिजनों द्वारा मुआवजा, सरकारी नौकरी की मांग परिजन कर रहे हैं। सूचना मिलने पर सदर एसडीएम राकेश कुमार, एसडीपीओ रमाकांत उपाध्याय मौके पर पहुंचे हैं। लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। करीब तीन घण्टे तक इलाके में जाम की स्थिति बनी रहीं।

बताते चलें कि सोमवार की दोपहर ओपी क्षेत्र के कृष्णा नगर से स्थानीय निवासी विश्वनाथ चौधरी नामक व्यक्ति को पुलिस ने शराब पीने के आरोप में हिरासत में लिया था। मृतक के पुत्र का कहना है कि थाने में उनके पिता से किसी पुलिस वाले ने मिलने नहीं दिया।

अचानक, उनके पिता के मौत की खबर मिली जिसके बाद परिजनों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। सूत्रों के मुताबिक पुलिस हिरासत में विश्वनाथ चौधरी की पिटाई की गई थी जिसके बाद हालात गंभीर हो गई। मेहसौल ओपी ने आनन फानन में सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया जहां विश्वनाथ चौधरी की मौत हो गई।

घटना के बाद परिजनों ने सदर अस्पताल में जमकर हंगामा किया। घटना के बाद सदर अस्पताल पहुंचे एसपी कर किशोर राय को भारी विरोध का सामना करना पड़ा। सदर अस्पताल में घंटों हंगामा करने के बाद भी कोई नतीजा नहीं निकल सका था।

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply