बिहार के मैदानी इलाकों से लेकर पहाड़ी इलाकों तक गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है. शहर और गांव में नींबू के दामों में उछाल आने लगा है.

नींबू के दाम बढ़ने से किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो रही है लेकिन आम लोगों की पहुंच से यह बाहर होता जा रहा है और इसके बढ़ते दामों का कारण पीछे से कम आवक होना बताया जा रहा है. 

इस बार तो नींबू लोगों के स्वाद को कुछ ज्यादा ही खट्टा कर रहा है. सामान्य एक – दो प्रति नग में बिकने वाला नींबू 10 रू प्रति मिल रहा है. वहीं, मार्च में बढ़ती गर्मी  के तेवर के चलते छोटे से दिखने वाले नींबू का भाव भी आसमान छूने लगा है. 

नींबू की बढ़ती दरों को लेकर चकमहिला चौक पर सब्ज़ी बेचने वाले दुकानदार सुबोध कुमार का कहना है कि इसकी आवक कम होने से बाजार में भाव बढ़ गया है. गर्मी ने नींबू का रस निचोड़ दिया है. एक पखवाड़े में 100 रु से नींबू के दाम 400 रूपए प्रति किलो पहुंच गए हैं.

वैसे भी गर्मी बढ़ने के साथ नींबू की मांग भी बढ़ जाती है. गर्मी से पहले जो नींबू पानी का गिलास 10 रु का मिलता है, वहीं गर्मी पीक पर होने से  20 से 25 तक में मिल रहा है.  जिसके कारण सब्जी मंड़ी में ग्राहक नींबू का दाम पूछ तो रहे हैं लेकिन इसे खरीदने की हिम्मत नहीं करते.  

Team.

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply