बिहार के बच्चे किसी भी प्रतियोगी परीक्षा को पास करने के लिए कितनी मेहनत करते हैं? इसको लेकर एक तस्वीर इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. बिहार से आई है तस्वीर ना केवल हैरान करती है बल्कि प्रेरणादायक भी है.

दरअसल, सोशल मीडिया पर यह तस्वीर पटना के गंगा घाट की है जहां पर काफी संख्या में छात्र और छात्राएं गंगा किनारे बैठकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करते नजर आ रहे हैं. यह तस्वीर सोशल मीडिया पर और ज्यादा वायरल तब हो गई जब मशहूर उद्योगपति हर्ष गोयनका ने इसे 4 अप्रैल को अपने ट्विटर पेज पर साझा किया.

हर्ष गोयनका ने बिहार की इस तस्वीर को ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा, ‘पटना, बिहार में बच्चे गंगा नदी के किनारे प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. यह आशा और सपनों की तस्वीर है.’ 

हर्ष गोयनका द्वारा साझा किए गए इस तस्वीर को अब तक 6000 से भी ज्यादा लोगों ने लाइक किया है और 6 साल से भी ज्यादा लोगों ने रिट्वीट किया है. तकरीबन ढाई सौ लोगों ने इस तस्वीर पर कमेंट भी किया है.

दरअसल, देश में कोई भी प्रतियोगी परीक्षा होती है तो उसमें सबसे ज्यादा बिहार के छात्र और छात्राएं आवेदन करते हैं. इस साल जून में आरआरबी ग्रुप डी की परीक्षा होनी है जिसके लिए बिहार से तकरीबन पांच लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है. ग्रुप डी में 103000 पद पदों के लिए परीक्षा का आयोजन होना है, जिसके लिए तकरीबन 1 करोड़ 15 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है.

परीक्षा की तैयारी के लिए रोजाना सुबह 4 से 6 के बीच पटना यूनिवर्सिटी के पीछे गंगा घाट पर एक साथ बैठते हैं और परीक्षा की तैयारी करते हैं. ज्यादातर छात्र और छात्राएं जो गंगा घाट किनारे बैठकर परीक्षा की तैयारी करते हैं वह पटना यूनिवर्सिटी के छात्र है और साथ ही यूनिवर्सिटी इलाके में ही स्थित हॉस्टल और लॉज में रहकर पढ़ाई करने वाले छात्र हैं.

बता दें कि, गंगा घाटों पर बैठकर तैयारी करने की तस्वीर पहले तो पटना कॉलेज घाट पर नजर आती थी मगर अब अन्य घाट जैसे कालीघाट और कदम घाट पर भी छात्र और छात्राएं सुबह के वक्त एक साथ बैठकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करते हैं.

Leave a Reply