सीतामढ़ी डीएम मनेश कुमार मीणा बुधवार की देर रात सदर अस्पताल पहुंचे. डीएम के अचानक पहुंचने से चिकित्सकों व कर्मियों में हड़कंप मच गया. किसी को उनके आने की खबर नहीं थी.

डीएम के औचक निरीक्षण में दो चिकित्सक व तीन कर्मी ड्यूटी से गायब पाए गए. इस पर डीएम ने नाराजगी जताई तथा तुरंत सिविल सर्जन डॉ. सुरेश चंद्र लाल से पांचों को शोकॉज करने तथा एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया.

रात 1 बजे डीएम के सदर अस्पताल पहुंचने की भनक ड्यूटी में तैनात कर्मियों को भी नहीं लगी. इस दौरान मरीजों को इमरजेंसी वार्ड समेत अन्य वार्डों में भर्ती देख डीएम वहां पहुंचे और मरीजों तथा उनके अटेंडेंट से सदर अस्पताल में मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली.

डीएम अस्पताल पहुंचकर सबसे पहले मातृ शिशु भवन में स्थित एसएनसीयू व बच्चा वार्ड की जांच की. बच्चे व एसएनसीयू वार्ड में चिकित्सक के उपलब्ध नहीं रहने पर नाराजगी व्यक्त की. मातृ-शिशु भवन में हर समय साफ सफाई करने का निर्देश दिया.

निरीक्षण के दौरान इमरजेंसी वार्ड में भर्ती मरीज व उनके परिजनों ने डीएम से कहा कि कई दवा बाहर से खरीद कर लाना पड़ता है. इमरजेंसी वार्ड में डीएम ने जल्द ही ऐसी की व्यवस्था भी उपलब्ध कराने की भी बात कही.

Team.

Leave a Reply