बिहार यूनिवर्सिटी के स्नातक सत्र 2019-22 की पार्ट वन परीक्षा का परिणाम सुधारने के लिए टेबुलेटर की नियुक्ति की गयी है. परीक्षा नियंत्रक डॉ संजय कुमार ने बताया कि परिणाम को ठीक किया जा रहा है. टेबुलेटर उन्हें देखेंगे और अन्य जो परिणाम सुधारे जाने हैं उनपर तेजी से कार्य करेंगे।

कई कालेजों की ओर से अबतक अंक नहीं भेजा गया, जिससे सुधार करने में परेशानी हो रही है. परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि पीजी प्रथम सेमेस्टर के परिणाम में हुई गड़बड़ी को 15 तक ठीक कर लिया जायेगा. उर्दू में रोल नंबर और नाम की गड़बड़ी को सुधार लिया गया है. अन्य विषयों की गड़बड़ी ठीक की जा रही है.

परिणाम वेबसाइट पर 15 जनवरी तक अपलोड किया जायेगा

रिजल्ट में गड़बड़ी को दूर कर रिजल्ट को परिणाम वेबसाइट पर 15 जनवरी तक अपलोड किया जायेगा. जिन छात्रों के प्रायोगिक परीक्षा का परिणाम नहीं दिख रहा था उनका अंक विभाग से मंगाकर कालम में भरा जा रहा है.

Leave a Reply