पटना में एक रॉन्ग नंबर वाली लव स्टोरी सामने आई है। रॉन्ग नंबर पर प्यार हुआ और जब प्यार परवान चढ़ा तो प्रेमी अपनी प्रेमिका को ट्रेन से सूरत ले जाने के लिए निकल पड़ा। लेकिन शक के आधार पर रेल पुलिस ने मुग़लसराय में दोनों को पकड़ लिया। पूछताछ के दौरान दोनों की प्रेम कहानी सामने आई। इसके बाद पुलिस ने दोनों के परिजनों को बुलाकर उन्हें सौप दिया। बाद में दोनों पक्ष की रजामंदी से मंदिर में लड़का-लड़की की शादी करा दी गई।

जानकारी के अनुसार, नौबतपुर के खजुरी निवासी विक्रमादित्य शर्मा का पुत्र अंकीत कुमार की आरोपुर निवासी नवनीत शर्मा की बेटी श्रेया राज से रॉन्ग नंबर पर बात हुई। दोनों के बीत बातों की सिलसिला चल पड़ा। फिर दोनों ने एक दूसरे से प्यार का इजहार कर दिया। इसके बाद 2 जून 2022 को शादी के लिए दोनों घर से भाग निकले। इसी दौरान ट्रेन में रेल पुलिस ने मुग़लसराय में दोनों को पकड़ लिया। इसके बाद दोनों के परिजन पहुंचे और दोनों की रजामंदी से बिक्रम स्थित मंदिर में शादी करा दी।

एक साल से दोनों प्यार में थे
इधर पुलिस की पूछताछ में प्रेमी जोड़ों ने कबूल किया कि वे दोनों एक दूसरे से करीब 1 वर्ष से प्यार करते है। रॉन्ग नंबर के जरिए दोनों की बातचीत शुरू हुई थी। पहले लड़की ने बात करने से इंकार कर दिया था, लेकिन कुछ दिनों बाद दोनों में बात होने लगी। इसके बाद धीरे-धीरे प्यार परवान चढ़ने लगा। दोनों एक वर्ष से फोन से बात करते थे। लेकिन कभी एक दूसरे से नहीं मिले थे। बाद में सोशल मीडिया के जरिये दोनों में नजदीकियां बढ़ी। इसके बाद वीडियो कॉल पर बात शुरू हो गई और दोनों एक दूसरे के साथ जीने-मरने की कसमें खा ली।

दोनों के घरवालों की रजामंदी से मंदिर में करा दी शादी: थानाध्यक्ष
नौबतपुर थानाअध्यक्ष मो. रफीकुल रहमान ने कहा कि थानाक्षेत्र के खुजरी गांव के ग्रामीणों से सूचना मिली थी। इसके बाद जीआरपीएफ पुलिस ने दोनों को रेलवे स्टेशन से पकड़ लिया। हालांकि दोनों परिवार की रजामंदी के बाद मंदिर में प्रेमी जोड़े की शादी करा दी गई है। इस संबंध में दोनों पक्ष की तरफ से कोई भी लिखित आवेदन थाने में नहीं दिया गया है।

Leave a Reply