आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट (RRB NTPC Result) को लेकर युवाओं का विरोध-प्रदर्शन लगातार बढ़ता जा रहा है। बिहार भर में पिछले एक-दो दिन से लगातार अलग-अलग स्थानों पर युवाओं और छात्रों के द्वारा ट्रेनें रोके जाने और रेलवे पटरियों को जाम करने की घटनाएं सामने आई हैं।

मंगलवार को सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन पर सैकड़ों की संख्या में छात्रों ने प्रदर्शन किया। घण्टों तक मेहसौल गुमटी पर छात्र बैठे रहे। इस दौरान सरकार के ख़िलाफ़ नारेबाजी करते रहे। प्रदर्शन से ट्रेनें भी प्रभावित हुई। वहीं गुमटी के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। धरना-प्रदर्शन की सूचना मिलने पर रेलवे पुलिस के अलावा मेहसौल ओपी और नगर थाना की पुलिस बल मौके पर पहुंची। छात्रों को समझाने का प्रयास किया। घंटों तक चले गतिरोध के बावजूद छात्र ट्रैक पर से नहीं उठे।

प्रदर्शन के दौरान सदर एसडीपीओ रमाकांत उपाध्याय छात्रों को समझाने पहुंचे जहां छात्रों ने उनके साथ जमकर बहस बाजी की। बातचीत में सफल नहीं होने पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया जिससे छात्रा को आक्रोशित हो गए। छात्र पत्थर चलाने लगे। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में हवाई फायरिंग की और छात्रों को खदेड़ कर भगाया।

बताते चलें कि रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की ओर से नॉन टेक्नीकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) भर्ती सीबीटी-1 परीक्षा के रिजल्ट 14 व 15 जनवरी, 2022 को जारी किए गए थे। परीक्षा में लगभग एक करोड़ से ज्यादा उम्मीदवार पंजीकृत हैं। इस परिणाम के आधार पर सीबीटी-2 यानी दूसरे चरण की परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाना है। उम्मीदवारों ने आरोप लगाया है कि आरआरबी एनटीपीसी परिणाम में धांधली हुई है। 

© SITAMARHI LIVE | TEAM.

Leave a Reply