देशभर में कॉन्ग्रेस का जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन जारी है। इसी बीच महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, सेना एवं अग्निपथ योजना, रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि और खाद्य पदार्थों पर पहली बार लगे जीएसटी के खिलाफ सीतामढ़ी जिला कांग्रेस कमिटी द्वारा सीतामढ़ी समाहरणालय पर जोरदार प्रदर्शन किया गया।

इस दौरान सैकड़ों कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ताओं को पुलिस ने समाहरणालय के मुख्य द्वार पर रोका गया। प्रशासन की ओर से सदर एसडीएम राकेश कुमार प्रदर्शनकारियों के बीच आए और कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा हस्ताक्षरित राष्ट्रपति महोदया को संबोधित स्मार पत्र लिया।

यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष में बताया कि स्मार पत्र में बेतहाशा महंगाई, बढ़ती बेरोजगारी, युवा विरोधी अग्निपथ योजना, खाद्य पदार्थों पर जीएसटी, ईडी शाही, रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी व सरकारी एजेंसियों के दुरुपयोग आदि मुद्दों के चलते संसदीय लोकतंत्र पर उत्पन्न खतरे को टालने के लिए हस्तक्षेप की मांग की गई।

बता दे कि प्रदर्शनकारी कांग्रेस कार्यकर्ता डुमरा बड़ी बाजार पर इकट्ठा हुए और झंडा बैनर के साथ मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए समाहरणालय तक पहुंचे, जहां प्रदर्शनकारियों को पुलिस प्रशासन द्वारा रोका गया, लेकिन प्रदर्शन जारी रहा और रस्साकशी के बीच कांग्रेस नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। हालांकि थोड़ी देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

कांग्रेस नेताओं में आक्रोश था कि दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय, सोनिया गांधी, राहुल गांधी आदि वरीय नेताओं के घरों को पुलिस ने घेर लिया है। यहां तक कि संसद सत्र के दौरान राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को ईडी ने बुलाने की हिमाकत की इससे संसद की अवहेलना हो रही है। देश के ज्वलंत मुद्दों पर सरकार चर्चा करने को तैयार नहीं। राहुल गांधी ने साफतौर पर कहा है कि सच की बैरिकेडिंग नहीं की जा सकती और किसी भी सूरत में वो मोदी सरकार के सामने झुकने वाले नहीं। सच्चाई की जीत होगी।

विरोध प्रदर्शन में प्रो. मधुरेंद्र कुमार सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष राम कृपाल शर्मा, प्रदेश प्रतिनिधि अफाक खान, रकटू प्रसाद, रितेश रमण सिंह, प्रमोद नील, यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष शम्स शाहनवाज, अधिवक्ता संजय बिररख, डॉ. राजीव कुमार काजू, अर्जुन खिरहर, मनोज सिंह, शिक्षक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष संपूर्णानंद झा, पूर्व प्रत्याशी मोनी गुप्ता, रोशन कुमार झा बिट्टू, तराकांत झा, रामू मिश्रा, रणधीर चौधरी, किसान सेल के जिलाध्यक्ष विजय सिंह राठौर, बिरेंद्र राम, जय कृष्ण पूर्वे, एसएम मोख्तार आलम, देवेंद्र मिश्र, मनोज झा, उदित नारायण पासवान, रंधीर सिंह, विनोद सिंह डुमरी, पिछड़ा वर्ग के अध्यक्ष भगवान यादव, वीरेंद्र कुशवाहा, इंटक यूथ जिलाध्यक्ष शमशेर खान, अधिवक्ता सुभाष यादव, बिरेंद्र राम, राम उदय बैठा, एनएसयूआई अध्यक्ष सरफराज शेख, सेवा दल के जिलाध्यक्ष आलोक कुमार, लीगल सेल के संयोजक सेराज अहमद, सिकंदर हयात खान, शंभू शंकर भोला, चुन्नू सिंह, संतोष पासवान, राजू कुंवर, दिनेश राय, महेंद्र कुमार, सुमंत कुमार सिंह, सोनू मिश्र, एमआई आदिल, दिलीप चौधरी, हैदर अंसारी, संजय शर्मा, पप्पू प्रवीण, प्रमोद चौधरी, नितेश पटेल, राम दुलार महतो, अरुण महतो, दिलकश खान, मनोज केजरीवाल, प्रो.राणा तेज प्रताप सिंह, राम उदार बैठा, अब्दुल मन्नान, तनवीर खान, सीता प्रसाद, अख्तर रजा खान, राजन भारद्वाज, महंत बाल कृष्ण दास, सुंदरम पाठक, धीरज सिंह, अवधेश सिंह, राम जतन सिंह, खुर्शीद आलम, मनोज यादव, मो. मुख्तार, इंद्र प्रताप सिंह, राम विनोद सिंह, कौशल सिंह, अंबुज सिंह, रमा शंकर सिंह, राहुल गुप्ता, अजय राय, रोशन सिंह, रेखा शर्मा, अरुण महतो, भिखारी साह मुखिया, पवन झा, उपेंद्र यादव, चांद अंसारी, अबरार अंसारी, रघुनाथ राय, घनश्याम मिश्रा आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।

Team.

Leave a Reply