अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station) में इस हफ्ते सामान्य से कुछ अधिक व्यस्तता और हलचल रहेगी. दरअसल अमेरिका के ह्यूस्टन स्थित प्राइवेट कंपनी एक्सिओम स्पेस (Axiom Space) अपने चार अंतरिक्षयात्रियों को अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (ISS) भेजने वाली है. इससे जुड़ी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा चुका है. अब बस इस मिशन का काउंटडाउन शुरू होने का इंतजार है.

मिशन Ax-1
Axiom के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि मिशन सही तरीके से आगे बढ़ा तो नासा के रिटायर्ड अंतरिक्ष यात्री माइकल लोपेज एलेग्रिया की अगुवाई में ये चार सदस्यीय टीम करीब 28 घंटे बाद अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुंच जाएगी. ये चारों अंतरिक्षयात्री एलन मस्क (Elon Musk) की स्पेस एक्स (SpaceX) कंपनी के ड्रैगन कैप्सूल से शुक्रवार को अंतरिक्ष की यात्रा पर रवाना होंगे. इस मिशन का नाम है Ax-1.

कौन कौन है शामिल?
रॉयटर्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक इस खास सफर में नासा के एक पूर्व एस्ट्रोनॉट माइकल लोपेज एलेग्रिया शामिल हैं. 63 साल के लोपेज एलेग्रिया इस मिशन के कमांडर और Axiom के वाइस प्रेसिडेंट हैं. वहीं उनके अलावा तीन अन्य निजी यात्री हैं- लैरी कॉनर, मार्क पैथी और ईटन स्ट्रीब. इन यात्रियों की अंतरिक्ष यात्रा 10 दिन की होगी. आठ दिन स्पेस स्टेशन में रहेंगे. दो दिन यात्रा में लगेंगे.

लोपेज एलेग्रिया ने हाल ही में कहा, ‘ये मिशन अनूठा है. हम स्पेस टूरिस्ट नहीं हैं. हम वहां पर बॉयो मेडिसिन रिसर्च भी करेंगे. जिसमें मेंटल हेल्थ, कार्डियक स्टेम सेल, कैंसर और उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर में होने वाले बदलावों की पड़ताल होगी. Axiom टीम ने NASA और SpaceX दोनों के साथ बड़े पैमाने पर ट्रेनिंग ली है. ताकि साथ में यात्रा के दौरान सामंजस्य बिठा सकें.’

मिशन में क्या होगा?

इस दौरान 26 माइक्रोग्रैविटी एक्सपेरीमेंट होंगे. जिसमें से कई साइंस और टेक्लनालजी से जुड़े हैं. ये टीम एक्सपेरिमेंट के लिए सभी जरूरी उपकरण साथ ले जाएगी. इस अभियान को लेकर माइकल लोपेज एलेग्रिया ने कहा कि यह इंसानी अंतरिक्ष उड़ान का नया समय है. इस उड़ान से स्पेस ट्रैवल के नए आयाम खुलेंगे. स्पेस स्टेशन पर वर्किंग, लिविंग और रिसर्च को लेकर सिर्फ वैज्ञानिक समूह ही नहीं जुड़ेगा. बल्कि दुनिया के अन्य लोग भी जुड़ेंगे. यह एक तरह का अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम है. जो व्यापक होता चला जाएगा.

बनेगा इतिहास

Axiom स्पेस के सीईओ माइकल सफ्रेडिनी ने कहा कि अंतरिक्षयात्रा का नया दौर शुरु होने वाला है. ये वो लोग हैं, जो किसी वैज्ञानिक समुदाय से नहीं जुड़े हैं. इन्हें इससे पहले अंतरिक्ष यात्रा का कोई अनुभव नहीं है. लेकिन ये एकसाथ काम करके नया इतिहास बनाने वाले हैं. 

Leave a Reply